इंग्‍लैंड दो मैच जीतकर भी वेस्‍टइंडीज से पीछे

[ad_1]

ben Stokes - India TV Hindi

Image Source : PTI
बेन स्‍टोक्‍स

WTC Points Table : इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच खेली गई टेस्‍ट सीरीज हाल ही में खत्‍म हो गई थी। एशेज सीरीज 2-2 की बराबरी पर समाप्‍त हुई, लेकिन पिछली बार की चैंपियन होने के कारण ट्रॉफी ऑस्‍ट्रेलिया के पास रहेगी। बेन स्‍टोक्‍स की कप्‍तानी वाली इंग्‍लैंड की टीम ने भले ही पहले दो मैचों में पिछड़ने के बाद सीरीज बराबरी पर खत्‍म की हो, लेकिन अब आईसीसी की ओर से इंग्‍लैंड टीम को एक कड़ी सजा सुनाई गई है। इससे विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप अंक तालिका में टीम को बहुत बड़ा नुकसान हो गया है। फर्क न केवल अंकों पर पड़ा है, बल्कि जीत प्रतिशत भी बुरी तरह से गिर गया है। पता चला है कि आईसीसी ने एशेज के दौरान स्‍लो ओवर रेट के कारण ऐसा किया है। 

आईसीसी ने स्‍लो ओवर रेट के कारण इंग्‍लैंड के काट लिए अंक, ऑस्‍ट्रेलिया को भी नुकसान  


आईसीसी ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत अंक काट दिए हैं। आईसीसी ने कहा है कि एशेज सीरीज के दौरान स्‍लो ओव रेट को कम करने के कारण उन पर जुर्माना लगाया गया है। नए नियमों के तहत इंग्‍लैंड पर मैच फीस का पांच प्रतिशत जुर्माना और प्रत्येक ओवर कम के लिए एक डब्ल्यूटीसी अंक का जुर्माना लगाया गया है। ओल्ड ट्रैफर्ड में चौथे टेस्ट में धीमी ओवर गति के लिए ऑस्ट्रेलिया के 10 डब्ल्यूटीसी अंक दिए गए हैं, जबकि इंग्लैंड को पांच में से चार टेस्ट में पिछड़ने के कारण 19 अंक का नुकसान हुआ है। डब्ल्यूटीसी में टेस्ट जीतने पर टीमों को 12 अंक, ड्रॉ पर चार अंक और हार पर कोई अंक नहीं मिलता है। आईसीसी के नियमों के अनुसार एक टीम को टेस्‍ट में एक दिन में 90 ओवर फेंकने होते हैं। 

इंग्‍लैंड टीम के करीब करीब हर मैच के बाद कटे अंक 

इंग्लैंड ने एजबेस्टन में पहले टेस्ट में दो, लॉर्ड्स में दूसरे टेस्ट में नौ, ओल्ड ट्रैफर्ड में चौथे टेस्ट में तीन और ओवल में आखिरी और अंतिम टेस्ट में पांच ओवर कम फेंके। ऑस्ट्रेलिया को मैनचेस्टर चौथे टेस्ट में 10 ओवरों के लिए मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया। इंग्लैंड पर पहले दो और आखिरी दो टेस्ट में स्‍लो ओवर रेट के लिए पहले टेस्ट के लिए 10 प्रतिशत, दूसरे के लिए 45 प्रतिशत, चौथे के लिए 15 प्रतिशत और पांचवें मैच फीस के लिए 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। नए नियमों के अनुसार पहले टेस्ट में धीमी ओवर गति के लिए इंग्लैंड को दो अंक दिए गए थे, जिन्हें विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के तीसरे संस्करण की शुरुआत से लागू किया गया था। 

दो मैच जीतकर भी एक भी मुकाबला न जीतने वाली वेस्‍टइंडीज से नीचे पहुंची इंग्‍लैंड 

अब अगर विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप के ताजा प्‍वाइंट्स टेबल पर नजर डालें तो पाकिस्‍तानी टीम 24 अंक और 100 प्रतिशत जीत के साथ नंबर एक की कुर्सी पर कब्‍जा किए हुए है। इसके बाद टीम इंडिया के पास 16 अंक हैं और उसका जीत प्रतिशत 66.67 का हो गया है। तीसरे नंबर पर ऑस्‍ट्रेलियाई टीम है, जिसके पास 18 अंक हैं और जीत प्रतिशत 30 हो गया है। मजे की बात ये है कि जो वेस्‍टइंडीज की टीम दो मैच खेलकर एक भी जीत नहीं पाई है, वो इंग्‍लैंड से आगे हो गई है, जबकि इंग्‍लैंड की टीम दो मैच जीती, दो हारी और एक बराबरी पर खत्‍म हुआ है। वेस्‍टइंडीज की टीम भारत से पहला टेस्‍ट मुकाबला पारी और 141 रन से हारी थी और दूसरा बारिश से बाधित मैच बराबरी पर यानी ड्रॉ पर खत्‍म हुआ था। उसके पास केवल चार अंक हैं और जीत प्रतिशत 16.67 का है। वहीं इंग्‍लैंड के पास जुर्माने के बाद अब महज नौ अंक रह गए हैं, वहीं जीत प्रतिशत 15 का ही रह गया है, जो वेस्‍टइंडीज से कम है। आने वाले वक्‍त में ये अंक और जीत प्रतिशत टीम को खेलने वाली है। 

Latest Cricket News



[ad_2]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*