वनडे और T20 में ICC ने लागू किया नया नियम, जरा सी लापरवाही पर जाएंगे 5 रन


ICC Stop Clock Rule- India TV Hindi

Image Source : GETTY
आईसीसी स्टॉप क्लॉक रूल

ICC stop clock rule : क्रिकेट की दुनिया में समय समय पर नियमों में बदलाव किया जाता रहा है। अब एक और नया बदलाव होने जा रहा है। आईसीसी की कोशिश है कि वनडे और टी20 इंटरनेशनल मुकाबले निर्धारित समय पर ही खत्म हों। इसलिए इससे पहले भी कई नियम लागू किए गए थे, लेकिन अब इसमें कुछ और जोड़ा जा रहा है। 12 दिसंबर को वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच जो पहला टी20 मुकाबला खेला जाएगा, वो इसी नियम के ​तहत होगा। खास तौर पर ये नियम फील्डिंग करने वाली टीम के खिलाफ जाएगा, अगर टीम और कप्तान ने चूक की। 

आईसीसी ने लागू किया स्टॉप क्लॉक का नियम 

आईसीसी की ओर से बताया गया है कि वनडे और टी20 मुकाबलों में इलेक्ट्रॉनिक घड़ी यानी स्टॉप क्लॉक को जोड़ा जा रहा है। यह घड़ी दिसंबर 2023 और अप्रैल 2024 के बीच फुल मैंबर मैंस वनडे और टी20 इंटरनेशनल के लिए प्रयोग के तौर पर पेश की जाएगी। आईसीसी के अनुसार इस दौरान लगभग 59 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले जाएंगे। मैच में ये बदलाव 12 दिसंबर 2023 को वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच पहले टी20 मैच के दौरान लागू होगा। चलिए अब जरा आपको नियम को समझाते हैं। जो भी टीम मैच में गेंदबाजी कर रही होगी। उस दौरान एक ओवर से दूसरे ओवर के बीच के अंतर को 60 सेकेंड से ज्यादा नहीं रखना है। आईसीसी ने ग्राउंड पर व्यवस्था की है कि 60 से शून्य तक गिनती के लिए घड़ी दिखाई जाएगी, ताकि कप्तान को समय का अभास रहे।  

दो बार दी जाएगी छूट, तीसरी बार में पांच रन का जुर्माना 

बताया जाता है कि स्टॉप क्लॉक को लगाने के पीछे आईसीसी का उद्देश्य दो ओवरों के बीच लगने वाले वक्त को सीमित करना है। पिछले ओवर की आखिरी बॉल और अगले ओवर की पहली गेंद के बीच इससे ज्यादा का वक्त नहीं लिया जाना चाहिए। अगर फील्डिंग टीम दो बार ऐसा करती है तो उसे चेतावनी दी जाएगी। लेकिन अगर तीसरी बार भी ऐसा होता है तो पांच रन का जुर्माना लगाया जाएगा, जो बल्लेबाजी करने वाली टीम को मिल जाएंगे। इसके साथ ही आईसीसी ने इस नियम में कुछ अपवाद भी छोड़े हैं। अगर घड़ी पहले ही शुरू हो गई है तो उसे इन परिस्थितियों में रद किया जा सकता है। अगर ओवरों के बीच में एक नया बल्लेबाज विकेट पर आता है। इसके साथ ही अंपायरों ने बल्लेबाज या फील्डर की चोट के ऑनफील्ड इलाज को मंजूरी दे दी है। तीसरे अंपायर के पास घड़ी की शुरुआत निर्धारित करने की जिम्मेदारी होगी। ऐसा तब होता है जब पिछले ओवर की आखिरी गेंद को डेड घोषित कर दिया गया हो या किसी अंपायर या खिलाड़ी ने पिछले ओवर की अंतिम गेंद की समीक्षा पूरी कर ली हो।

इंडिया टीवी पर खेल की ये खबरें भी पढ़ें 

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने जीता ICC का बड़ा अवार्ड, इन 2 के हाथ लगी निराशा

RCB से ट्रेड होने के बाद इस खिलाड़ी ने जड़ा शानदार शतक, इस टीम से खेलेगा IPL 2024

Latest Cricket News



Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*