एमएस धोनी की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य का निधन

[ad_1]

भारत की विश्व विजेता...- India TV Hindi

Image Source : GETTY
भारत की विश्व विजेता टीम के दल के पूर्व सदस्य का निधन

भारतीय क्रिकेट के लिए सालों तक अपना योगदान देने वाले एक दिग्गज का निधन हो गया। खास बात यह थी कि यह दिग्गज भारत की 2007 टी20 वर्ल्ड कप की विश्व विजेता टीम का भी हिस्सा थे जिसने एमएस धोनी की अगुआई में इतिहास रचा था। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मैनेजर सुनील देव ने लंबी बीमारी से ग्रसित होने के बाद बुधवार को अंतिम सांस ली। उनकी आयु 75 वर्ष थी और 1970 के अंत से लेकर 2015 तक वह दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन, डीडीसीए का भी वह हिस्सा रहे थे। 

सुनील देव डीडीसीए के अलावा बीसीसीआई की भी विभिन्न उप समितियों का हिस्सा रहे थे। साल 2007 में साउथ अफ्रीका में खेले गए टी20 वर्ल्ड कप के पहले संस्करण में वह टीम इंडिया के साथ बतौर एडमिनिस्ट्रेटिव मैनेजर मौजूद थे। इस विश्व कप में भारतीय टीम ने एमएस धोनी की अगुआई में इतिहास रचा था और वर्ल्ड चैंपियन बनी थी। इसके बाद वह 2014 के इंग्लैंड दौरे पर भी भारतीय टीम के प्रशासनिक मैनेजर रहे थे। इन सबसे पहले 1996 में भी साउथ अफ्रीका दौरे पर उन्हें ही टीम इंडिया के साथ बतौर प्रशासनिक मैनेजर भेजा गया था।

सुनील देव से जुड़ी कहानियां

कहा जाता है कि सुनील देव का कद 1990 के दौरान काफी बड़ा था। ऐसी कोई रणजी या एज ग्रुप की टीम नहीं होती थी जो उनके अप्रूवल के बिना जारी हो जाए। उसके बाद 2009 में भारत और श्रीलंका के बीच दिल्ली के तत्काली फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में पिच को लेकर विवाद खड़ा हो गया था। असीमित उछाल के कारण श्रीलंकाई टीम ने बीच मुकाबले में खेलने से मना कर दिया था। उसके बाद काफी विवाद हुआ और सुनील देव ने डीडीसीए के एक पद से इस्तीफा भी दिया था। इतना ही नहीं एक और कहानी अक्सर सामने आती है कि वह बताते थे 17 साल के विराट कोहली ने उनकी ही एसयूवी गाड़ी से ड्राइविंग सीखी थी। ऐसे कई किस्से हैं जो अब सिर्फ सुनील देव को यादों में अमर रखेंगे।

यह भी पढ़ें:-

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन



[ad_2]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*