भारत को सेंचुरियन टेस्ट में हार से हुआ भारी नुकसान, WTC प्वाइंट्स टेबल में बांग्लादेश से भी नीचे


India vs South Africa- India TV Hindi

Image Source : GETTY
भारत बनाम साउथ अफ्रीका

रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम का 31 साल के बाद साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने का सपना अधूरा रहने वाला है। टीम इंडिया को इस बार दौरे पर 2 मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में एक पारी और 32 रनों से हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने दोनों पारियों में अपने प्रदर्शन से निराश किया, जिसमें पहली पारी में केएल राहुल को छोड़कर कोई दूसरा बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सका। वहीं दूसरी पारी में सिर्फ विराट कोहली के बल्ले का दम देखने को मिला। अब इस मुकाबले में मिली हार के बाद वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की प्वाइंट्स टेबल में भी भारतीय टीम को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है।

हार के साथ गंवाना पड़ा पहला स्थान

साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज का आगाज होने से पहले भारतीय टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की प्वाइंट्स टेबल में पहले स्थान पर काबिज थी। वहीं सेंचुरियन टेस्ट में मिली हार के बाद अब टीम इंडिया सीधे पांचवीं पोजीशन पर पहुंच गई है। भारतीय टीम के जहां 16 अंक हैं तो वहीं उनके अंकों का प्रतिशत अब 44.44 पर पहुंच गया है। अब भारतीय टीम ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के इस संस्करण में तीन टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें एक में जीत, एक में हार और एक मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ था। वहीं भारत को मात देने के साथ साउथ अफ्रीका ने इस प्वाइंट्स टेबल में 100 अंक प्रतिशत के साथ पहला स्थान हासिल कर लिया है।

पाकिस्तान दूसरे तो ऑस्ट्रेलिया छठे स्थान पर

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2023-25 के संस्करण की प्वाइंट्स टेबल में अन्य टीमों की स्थिति को देखा जाए तो उसमें पाकिस्तान की टीम अभी 61.11 अंक प्रतिशत के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि तीसरे और चौथे स्थान पर न्यूजीलैंड और बांग्लादेश की टीम है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत से एक पायदान नीचे 41.67 अंक प्रतिशत के साथ छठे स्थान पर मौजूद है।

ये भी पढ़ें

वर्ल्ड क्रिकेट में विराट कोहली ने बनाया बड़ा कीर्तिमान, बने ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज

रोहित के खिलाफ ऐसा करने वाले पहले गेंदबाज बने रबाडा, भारत के खिलाफ भी पूरा किया ये कीर्तिमान

Latest Cricket News



Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*