मैच हारने के बाद भी कप्तान हार्दिक ने इस प्लेयर के लिए खोला दिल, कहा-नहीं लगा उसका दूसरा मैच है

[ad_1]

Hardik Pandya- India TV Hindi

Image Source : GETTY
Hardik Pandya

वेस्टइंडीज ने भारतीय टीम को दूसरे टी20 मैच में 2 विकेट से हरा दिया। इसी के साथ वेस्टइंडीज ने सीरीज में 2-0 की बढ़त हासिल कर ली। टीम इंडिया को पहले मैच में 4 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। इस मैच में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को जीतने के लिए 153 रनों का टारगेट दिया, जिसे वेस्टइंडीज की टीम ने आसानी से हासिल कर लिया। मैच में हार के बाद कप्तान हार्दिक पांड्या ने बड़ा बयान दिया है। 

हार्दिक पांड्या ने कही ये बड़ी बात 

मैच के बाद भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या ने कहा कि अगर ईमानदारी से कहूं तो वह बल्लेबाजी प्रदर्शन सुखद नहीं था, हम बेहतर बल्लेबाजी कर सकते थे। 160+ या 170 एक अच्छा योग होता। वह जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहे हैं, उससे स्पिनरों को रोटेट करना काफी मुश्किल हो जाता है, जिस तरह से वेस्टइंडीज ने बल्लेबाजी की। उसने खेल को काफी हद तक अपने हाथों में ले लिया। 

तिलक वर्मा की तारीफ की

मौजूदा टीम संयोजन के साथ हमें टॉप 7 बल्लेबाजों पर भरोसा करना होगा कि वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे और उम्मीद करेंगे कि गेंदबाज आपको मैच जिताएंगे। हमें यह सुनिश्चित करने के तरीके खोजने होंगे कि हमारे पास सही संतुलन है लेकिन साथ ही बल्लेबाजों को अधिक जिम्मेदारी लेने की जरूरत है। तिलक वर्मा के लिए बोलते हुए उन्होंने कहा कि लेफ्ट हैंड के बल्लेबाज का चौथे नंबर पर आना हमें विविधता देता है। ऐसा नहीं लगता है कि उनका यह दूसरा टी20 इंटरनेशनल मैच है। 

तिलक वर्मा ने की शानदार बल्लेबाजी 

भारतीय टीम के लिए ईशान किशन और शुभमन गिल अच्छी पारियां खेल पाए। ईशान ने 27 रन, शुभमन गिल ने 7 रन, सूर्यकुमार यादव ने 1 रन बनाया, लेकिन इन बल्लेबाजों के आउट होने के हबाद तिलक वर्मा ने रन बनाने की जिम्मेदारी संभाल ली। उन्होंने 51 रन बनाए। उनकी वजह से ही टीम इंडिया सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाई। 

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन



[ad_2]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*